Samrat Mixture
Breaking News

एक बार फिर अपने पार्षदो के निशाने पर पालिकाध्यक्ष

प्रशासन शहरो के संग अभियान में आमंत्रित नहीं करने व घटिया निर्माण उपयोग में लेने आक्रोशित कांग्रेस पार्षद, सम्भाग पर्यवेक्षक के सामने जताया विरोध

स्मार्ट हलचल । शिवप्रकाश चौधरी

केकडी। केकडी में 25 वर्ष बाद नगर पालिका में बहुमत के साथ बोर्ड बनाने में सफल रही कांग्रेस को भी एक वर्ष पूर्ण नहीं हुए कि पालिकाध्यक्ष लगातार अपने ही पार्षदो के विरोध का सामना करना पड रहा है। पालिकाध्यक्ष के खिलाफ अपने ही पार्षदो का अंसतोष लगातार बढता जा रहा है, कही दफा पार्षदो ने नगर पालिका में पालिकाध्यक्ष के चैम्बर में नहीं घुसने देने से लेकर सफाई सहित अन्य मुद्दो पर पालिकाध्यक्ष को घेरकर अपना विरोध दर्ज कराते नजर आए है। एक बार फिर पालिकाध्यक्ष को अपने ही पार्षदो ने निशाने पर लेकर विभिन्न मुद्दो को लेकर घेराव कर दिया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के महत्वकांक्षी अभियान प्रशासन शहरो के संग अभियान का आयोजन इन दिनो नगर पालिका द्वारा विभिन्न वार्डो में किया जा रहा, मगर पार्षदो को इन शिविरो में आमंत्रित नहीं करने व शहर में चल रहे सडक निर्माण कार्य में घटिया निर्माण सामग्री उपयोग में लेने से नाराज कांग्रेस पार्षदो मंगलवार को यहां पुरानी केकडी स्थित स्वर्णकार धर्मशाला में आयोजित प्रशासन शहरो के संग अभियान में सम्भाग पर्यवेक्षक कृष्ण अवतार त्रिवेदी व पालिकाध्यक्ष का घेराव करते हुए अपना विरोध दर्ज करवाया। इस दौरान पालिकाध्यक्ष को कांग्रेस पार्षदो ने जमकर खरीखोटी सुनाई तथा कहा कि सरकार के इतने महत्वपूर्ण अभियान में अगर पार्षदो को ही नहीं बुलाया जा रहा है तो आखिर सरकार की योजनाओं का लाभ आमजन तक कैसे पहुंचेगा और कैसे ये अभियान सफल होगा। इस दौरान पार्षदो ने शहर में चल सडक निर्माण में घटिया निर्माण सामग्री उपयोग में लेने को लेकर भी जमकर पालिकाध्यक्ष व पालिका कर्मचारियों को जमकर खरी खोटी सुनाई। पार्षदो का आरोप है कि नगर पालिका में कांग्रेस के बोर्ड के गठन के बाद से शहर के विकास के लिए सडको व नालियो सहित कई टेण्डर हुए मगर एक ही फर्म को टेण्डर देने से ठेकेदार फर्म बहुत ही धीमी गति से कार्य कर रही है जिससे उनके वार्डो में विकास पहुंचने में दो तीन साल गुजर जायेंगे मगर सडके नहीं बनेगी, वहीं जहां ठेकेदार फर्म सडक निर्माण कार्य कर रही है वहां घटिया निर्माण सामग्री काम में ले रही है जिससे आमजन को भारी परेशानियों का सामना करना पड रहा है। पार्षदो का आरोप है कि नगर पालिका प्रशासन ठेकेदार फर्म के साथ मिलीभगत कर ये घटिया निर्माण कार्य करवा रही है। इस दौरान पार्षदो ने शहर में फैल रही गंदगी, डेंगू के बढते प्रकोप के बावजूद साफ सफाई की बिगडते हालातो व अन्य मुद्दो पर अपने ही पालिकाध्यक्ष जमकर खरीखोटी सुनाई व सम्भाग पर्यवेक्षक के सामने अपना विरोध जाहिर किया। शिविर के दौरान पार्षदो व पालिकाध्यक्ष के बीच कई दफा तीखी नोक झोंक तक हो गयी, पार्षदो का आरोप है कि शहर की जनता ने उन्हेें विकास कराने के लिए चुना है मगर नगर पालिका प्रशासन अब मनमर्जी करके विकास में बाधक बन रहा है, जिससे विकास के कार्य शहर ठप्प होते नजर आ रहे है। पार्षदो ने आरोप लगाया कि उनके खुद के पालिकाध्यक्ष ही उनका फोन नहीं उठाते है तो फिर जनता की कैसे सुनेंगे। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस बोर्ड को गठन हुए अभी एक वर्ष भी पूर्ण नहीं हुआ है मगर पालिकाध्यक्ष के प्रति अपने ही कांग्रेस पार्षदो का अंसतोष लगातार बढ रहा है, कई दफा पार्षदो ने अपने ही पालिकाध्यक्ष की योजनाओ व अन्य मुद्दो को लेकर पालिकाध्यक्ष का घेराव कर चुके है तथा अपना विरोध जाहिर कर चुके है।

Related posts

Samrat Mixture