Samrat Mixture
Breaking News

टीवी आयात पर प्रतिबंध से घरेलू उद्योग को मिलेगी मदद, सृजित होंगे रोजगार: विनिर्माता

नयी दिल्ली, 31 जुलाई (भाषा) उद्योग जगत का मानना है कि टेलीविजन (टीवी) सेटों के आयात पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के कदम से देश में घरेलू विनिर्माण और असेंबलिंग गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। सोनी, एलजी, पैनासोनिक, थॉमसन जैसे ब्रांडों और डिक्सन टेक्नोलॉजीज जैसे अनुबंध निर्माताओं का कहना है कि यह प्रतिबंध स्थानीय विनिर्माण के लिये गति उत्पन्न करेगा तथा घरेलू उद्योग के लिये अवसर पैदा करेगा। डिक्सन टेक्नोलॉजीज के चेयरमैन सुनील वाचानी ने पीटीआई-भाषा से कहा, “भारत न सिर्फ भारतीय बाजारों के लिये, बल्कि वैश्विक बाजार के लिये भी टीवी के निर्माण का अगला केंद्र बन सकता है। यह कदम

डिसक्लेमर: यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।

भाषा | Updated:

NBT

नयी दिल्ली, 31 जुलाई (भाषा) उद्योग जगत का मानना है कि टेलीविजन (टीवी) सेटों के आयात पर प्रतिबंध लगाने के सरकार के कदम से देश में घरेलू विनिर्माण और असेंबलिंग गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। सोनी, एलजी, पैनासोनिक, थॉमसन जैसे ब्रांडों और डिक्सन टेक्नोलॉजीज जैसे अनुबंध निर्माताओं का कहना है कि यह प्रतिबंध स्थानीय विनिर्माण के लिये गति उत्पन्न करेगा तथा घरेलू उद्योग के लिये अवसर पैदा करेगा। डिक्सन टेक्नोलॉजीज के चेयरमैन सुनील वाचानी ने पीटीआई-भाषा से कहा, “भारत न सिर्फ भारतीय बाजारों के लिये, बल्कि वैश्विक बाजार के लिये भी टीवी के निर्माण का अगला केंद्र बन सकता है। यह कदम निश्चित रूप से सही दिशा में है और हमें वैश्विक केंद्र बनाने में मदद करेगा, जो हम बनना चाहते हैं। यह उत्पादों के विनिर्माण के लिये एक मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र बनाने में भी मदद करेगा।’’ उन्होंने कहा कि इससे छोटी अवधि में टीवी सेटों के आयात को नियंत्रित करने में मदद मिलेगी और उद्योग आवश्यक पैमाने के साथ आत्मनिर्भर होगा तथा वैश्विक बाजारों के साथ प्रतिस्पर्धा करेगा।वाचानी के अनुसार, भारतीय टीवी बाजार के प्रति वर्ष लगभग 160 से 170 लाख यूनिट के हो जाने के अनुमान हैं और इनमें से करीब 30 प्रतिशत चीन, थाईलैंड और वियतनाम जैसे देशों से आयात किये जाते हैं। उन्होंने कहा, “यह (आयात) स्थानीय उत्पादन के सात हजार करोड़ रुपये के बराबर है।” पैनासोनिक इंडिया के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) मनीष शर्मा ने कहा कि उपभोक्ताओं को अब भारत में असेंबल होने वाले उच्च गुणवत्ता वाले टीवी सेट मिलने जा रहे हैं। उन्होंने कहा, “यह निश्चित रूप से घरेलू असेंबलिंग पर सकारात्मक प्रभाव डालेगा। अग्रणी ब्रांडों के पास पहले से ही देश में विनिर्माण और असेंबलिंग इकाइयां हैं। इसलिये, यह हमें प्रभावित नहीं करने वाला है।” उन्होंने कहा कि कीमत के लिहाज से उपभोक्ताओं को लाभ नहीं होगा, हालांकि बाजार में कीमत समान बनी रहेंगी। उद्योग निकाय कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स एंड अप्लायन्सेज मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन (सिएमा) ने कहा कि पूरी तरह से निर्मित टीवी के आयात को प्रतिबंधित सूची में डालने का कदम घरेलू विनिर्माण को समर्थन देगा। सिएमा के अध्यक्ष कमल नंदी ने कहा, “यह सभी आकार के टीवी के घरेलू विनिर्माण को प्रोत्साहित करेगा और इस क्षेत्र में अधिक निवेश वअधिक रोजगार सृजन का समर्थन करेगा।” सरकार ने रंगीन टेलीविजन के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिसका उद्देश्य घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देना है और चीन जैसे देशों से गैर-जरूरी वस्तुओं की आवक को कम करना है। दक्षिण कोरिया की इलेक्ट्रॉनिक कंपनी एलजी के अनुसार, इस कदम से भारत में विनिर्माण को बढ़ावा मिलेगा और यह आत्मनिर्भर भारत के लिये बढ़ाया गया एक कदम है। एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स इंडिया के कारोबार प्रमुख (घरेलू मनोरंजन) गिरेसन टी गोपी ने कहा, “हम इस घोषणा का स्वागत करते हैं। एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स भारत में सबसे बड़ा टीवी निर्माता रही है। हमारे टीवी की पूरी रेंज सहित ओलेड और यूएचडी भारत में निर्मित है।” उन्होंने आगे कहा, “हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया के दृष्टिकोण के लिये प्रतिबद्ध हैं और भारत में हमारी विनिर्माण क्षमता को और मजबूत करेंगे।” इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बनाने वाली कंपनी सोनी ने कहा कि अब कंपनी भारत में अपने टीवी ब्रांड ब्राविया के पूरे पोर्टफोलियो का निर्माण करती है और 2015 से ही भारत में टीवी के स्थानीय विनिर्माण को स्थानांतरित करने के लिये भारी निवेश कर रही है। सोनी इंडिया के बिक्री प्रमुख सतीश पद्मनाभन ने कहा, ‘‘वर्तमान में, हम सफलतापूर्वक भारत में 99 प्रतिशत ब्राविया टीवी का निर्माण कर रहे हैं और हम उत्पादन की गुणवत्ता से काफी संतुष्ट हैं, जो वैश्विक मानकों के अनुरूप है। इसे हमारे भारतीय उपभोक्ताओं द्वारा अच्छी तरह से स्वीकार किया जाता है।”

Web Title ban on tv import will help domestic industry to generate employment(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

Samrat Mixture