Samrat Mixture
Breaking News

Yuvraj Singh Wishes Stuart Broad: युवराज सिंह की फैंस से अपील, ब्रॉड की उपलब्धि की करें तारीफ

Edited By Bharat Malhotra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

युवराज सिंह ने की स्टुअर्ट ब्रॉड की तारीफयुवराज सिंह ने की स्टुअर्ट ब्रॉड की तारीफ

नई दिल्ली

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड (Stuart Broad) को वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज (England vs West Indies) के पहले मैच में मौका नहीं दिया गया था। इसके बाद उन्हें दूसरे टेस्ट में जब शामिल किया गया तो ब्रॉड ने अपने प्रदर्शन से सभी आलोचकों को शांत कर दिया। सीरीज के तीसरे और आखिरी मैच में ब्रॉड ने एक और उपलब्धि अपने नाम दर्ज कर ली। वह टेस्ट क्रिकेट में 500 विकेट लेने वाले सातवें और इंग्लैंड के दूसरे गेंदबाज बन गए।

इस मौके पर कई खिलाड़ियों ने उन्हें बधाई दी। बधाई देने वालों में पूर्व भारतीय ऑलराउंडर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) भी शामिल थे। युवराज और ब्रॉड का नाम एक साथ जब भी आता है तो वर्ल्ड टी20 में युवराज द्वारा ब्रॉड के एक ओवर में लगाए गए छह छक्के को (Yuvraj Singh Hits Six Sixes in an over) याद किया जाता है।

हालांकि इस मौके पर युवराज ने अपने फैंस से उस बात को भुलाकर ब्रॉड को बधाई देने की अपील की। उन्होंने ट्वीट किया, ‘मुझे पता है जब भी मैं @StuartBroad8 के बारे में कुछ लिखता हूं तो लोग उसे छह छक्कों वाली घटना से जोड़ लेते हैं! आज मैं अपने सभी फैंस से अपील करूंगा कि जो उन्होंने हासिल किया है उसकी तारीफ करें! 500 टेस्ट विकेट कोई मजाक नहीं है। इसके लिए मेहनत, समर्पण और दृढ़ निश्चय की जरूरत होती है। ब्रॉडी, तुम महान हो!’

टेस्ट क्रिकेट में 500 विकेट लेने वाले गेंदबाज

  • टेस्ट क्रिकेट में 500 विकेट लेने वाले गेंदबाज

    टेस्ट क्रिकेट में अभी तक सिर्फ सात गेंदबाजों ने ही 500 विकेट लिए हैं। स्टुअर्ट ब्रॉड इस लिस्ट में सबसे नया नाम है। जानते हैं उनसे पहले कौन से गेंदबाज इसमें शामिल थे।

  • मुथैया मुरलीधरन (87 टेस्ट)

    श्रीलंका के दिग्गज स्पिनर मुथैया मुरलीधरन ने टेस्ट करियर में 133 टेस्ट मैचों में 800 विकेट लिए। इस प्रारूप में सबसे ज्यादा। वह सबसे तेजी से 500 टेस्ट विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज भी हैं। उन्होंने सिर्फ 87 मैचों में यह मुकाम हासिल कर लिया। मुरली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कैंडी में माइकल कैस्प्रोविच को आउट कर यह मुकाम हासिल किया था। दिनों की बात करें तो सिर्फ 11 साल 201 दिन में मुरली ने यह पड़ाव हासिल किया।

  • अनिल कुंबले (भारत)- 105 मैच

    अनिल कुंबले इस मामले में अलग थे। उनके पास वॉर्न और मुरली जैसा टर्न नहीं था लेकिन इसके बावजूद उन्होंने अपने लिए और भारत के लिए बड़ी उपलब्धियां हासिल कीं। उनके पास बल्लेबाज को अपनी सटीकता से फंसाने का हुनर था। कुंबले सबसे तेज 500 टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाजों की फेरहिस्त में दूसरे नंबर पर हैं। उन्होंने अपने 105वें टेस्ट में यह उपलब्धि हासिल की। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ मोहाली में स्टीव हार्मिसन को आउट कर यह मुकाम हासिल किया। 15 साल 212 दिन लगे कुंबले को 500 का आंकड़ा छूने के लिए। 132 टेस्ट मैचों में उन्होंने 619 विकेट लिए। वह भारत के सबसे कामयाब गेंदबाज हैं। और साथ ही 500 के क्लब में शामिल इकलौते भारतीय गेंदबाज।

  • शेन वॉर्न (ऑस्ट्रेलिया)- 108 मैच

    टेस्ट क्रिकेट में शेन वॉर्न के नाम 708 विकेट हैं। वॉर्न ने अपनी फिरकी से कई मैदानों पर जादू दिखाया। वॉर्न ने श्रीलंका के खिलाफ गॉल में 500 टेस्ट विकेट का आंकड़ा छुआ। अपने 108वें टेस्ट मैच में हसन तिलकरत्ने को आउट कर वॉर्न इस क्लब में शामिल हुए। इसी सीरीज में मुरली ने भी 500 विकेट पूरे किए थे। वॉर्न ने अपने करियर में 57.4 के स्ट्राइक रेट से विकेट लिए। उन्होंने 145 टेस्ट मैचों में 37 बार पारी में पांच विकेट और 10 बार मैच में 10 विकेट लिए। सबसे ज्यादा टेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाजों की लिस्ट में वह दूसरे नंबर पर हैं।

  •  ग्लेन मैक्ग्रा (ऑस्ट्रेलिया)- 110 टेस्ट

    ऑस्ट्रेलिया की ओर से खेलने वाले सबसे कामयाब तेज गेंदबाज हैं ग्लेन मैक्ग्रा मैक्ग्रा ने अपने करियर में कुल 563 विकेट लिए। वॉर्न के बाद वह ऑस्ट्रेलिया के दूसरे सबसे कामयाब गेंदबाज हैं। ऐशेज सीरीज के दौरान मैक्ग्रा ने 500 टेस्ट विकेट पूरे किए। उन्होंने लॉर्ड्स में इंग्लैंड के मार्कस ट्रेसकॉथिक को आउट कर यह मुकाम हासिल किया। मैक्ग्रा ने कुल 124 टेस्ट मैच खेले।

  • कर्टनी वॉल्श (वेस्टइंडीज) और जेम्स एंडरसन (इंग्लैंड)- 129 टेस्ट

    वॉल्श टेस्ट क्रिकेट में 500 विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज थे। उन्होंने 90 के दशक में वेस्टइंडीज की गेंदबाजी का दम बनाए रखा। इंग्लैंड के जेम्स एंडरसन ने हाल ही में न सिर्फ इंग्लैंड बल्कि दुनिया के चोटी के तेज गेंदबाजों की लिस्ट में जगह बनाई है। दोनों ने अपने 129वें टेस्ट मैच में 500 विकेट पूरे किए थे। वॉल्श ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ साल 2001 में यह उपलब्धि हासिल की वहीं एंडरसन ने 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ लॉर्ड्स में यह मुकाम हासिल किया। वॉल्श को डेब्यू के बाद यहां तक पहुंचने में 16 साल 128 दिन लगे वहीं एंडरसन 14 साल 108 दिन में इस क्लब में शामिल हुए।

  • स्टुअर्ट ब्रॉड (इंग्लैंड) 140 टेस्ट

    मैनचेस्टर टेस्ट के आखिरी दिन ब्रॉड ने क्रेग ब्रैथवेट को आउट कर इस क्लब में जगह बनाई। वह इस क्लब में जगह बनाने वाले सबसे ताजा बोलर हैं। हालांकि उन्होंने 500 विकेट लेने के लिए सबसे अधिक टेस्ट मैच हासिल किए हैं। ब्रॉड ने 140वें टेस्ट में 500 का आंकड़ा हासिल किया। उन्होंने 18वीं बार पारी में पांच और तीसरी बार मैच में 10 विकेट हासिल किए। ब्रॉड ने सबसे ज्यादा बार डेविड वॉर्नर को 12 बार आउट किया है। इसके अलावा माइकल क्लार्क को 11 और रॉस टेलर को 10 बार आउट किया है।

दिग्गजों की लिस्ट में शामिल हुए ब्रॉड

मंगलवार को स्टुअर्ट ब्रॉड ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 500 विकेट पूरे किए थे। ब्रॉड ने ओल्ड ट्रैफर्ड मैदान पर वेस्टइंडीज के बल्लेबाज क्रैग ब्रैथवेट को आउट कर यह उपलब्धि हासिल की थी। टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के नाम हैं जिन्होंने 800 का जादुई आंकड़ा छुआ है।

Source link

Samrat Mixture