Samrat Mixture
Breaking News

15 हजार किमी दूर दक्षिणी अमेरिका पहुंचे चीनी मछुआरे, इक्वाडोर ने बढ़ाई सतर्कता

Edited By Priyesh Mishra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

चीनी जहाज (फाइल फोटो)चीनी जहाज (फाइल फोटो)
हाइलाइट्स

  • चीन से 15 हजार किमी दूर दक्षिणी अमेरिका पहुंचे चीनी मछुआरे, इक्वाडोर ने बढ़ाई सतर्कता
  • गैलापागोस द्वीप से 200 किमी दूर देखी गई चीनी फिशिंग शिप्स, द्वीप के जैव विविधता को नुकसान पहुंचने का खतरा
  • इक्वाडोर ने बनाई सुरक्षा के लिए रणनीति, इतनी दूर मछली पकड़ने की नौकाएं भेजने पर हैरान विश्व

क्विटो

चीन के विस्तावादी गतिविधियां केवल एशिया में ही नहीं, बल्कि दुनिया के हर एक हिस्से में जारी हैं। मंगलवार को चीन के 260 फिशिंग शिप्स को दक्षिण अमेरिकी देश इक्वाडोर के गैलापागोस द्वीप के आसपास देखा गया है। इस इलाके की चीन से दूरी लगभग 15 हजार किलोमीटर है। ऐसे में इतनी बड़ी संख्या में चीनी शिप्स के यहां पहुंचने पर हैरानी जताई जा रही है।

इक्वाडोर की नौसेना ने बढ़ाई गश्त

इक्वाडोर के रक्षामंत्री ओसवाल्डो जेरिन ने कहा कि चीन के ये जहाज इस समय अंतरराष्ट्रीय जलक्षेत्र में हैं। इसलिए उनपर कोई कार्रवाई नहीं हो सकती है। वहीं इक्वडोर की नौसेना ने गैलापागोस द्वीप के आसपास के इलाकों में अपनी गश्त को तेज कर दिया है। उन्हें डर है कि अगर चीनी जहाज इस द्वीप के आसपास पहुंचेंगे तो इससे जलीय जीवन को खतरा पहुंच सकता है।

चीनी जहाजों से द्वीप को बचाने के लिए रणनीति

इक्वाडोर के राष्ट्रपति लेनिन मोरेनो ने एक सप्ताह पहले की ट्वीट कर इस ऐतिहासिक द्वीप के संरक्षण को लेकर प्रतिबद्धता जताई थी। जिसके बाद से इक्वाडोर की नौसेना ने पुष्टि की है कि गैलापागोस द्वीप समूह के तटों से चीन के लगभग 260 मछली पकड़ने के जहाजों को 200 मील की दूरी पर देखा गया है। मछली पकड़ने के बेड़े के जवाब में विशेषज्ञों की एक टीम के साथ राजधानी क्विटो के पूर्व मेयर और पूर्व पर्यावरण मंत्री योलान्डा काकाबादसे द्वारा एक सुरक्षा रणनीति बनाई है।

क्यों महत्वपूर्ण है गैलापागोस द्वीप समूह

गैलापागोस द्वीपसमूह अद्वितीय और शानदार समुद्री जीवन के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। यहां के विशालकाय कछुए दुनियाभर में आकर्षण का केंद्र हैं। इसके अलावा इस द्वीपसमूह पर राजहंस और अल्बाट्रोस की कई प्रजातियां निवास करती हैं। प्रसिद्ध वैज्ञानिक चार्ल्स डार्विन के विकास का सिद्धांत भी इसी जगह से प्रेरित है।

पहले भी यहां पकड़े गए हैं चीनी जहाज

इस इलाके से 2017 में भी एक चीनी शिप को पकड़ा गया था। बताया गया था कि चीन का यह जहाज रास्ता भटक कर गैलापागोस द्वीप के पास पहुंच गया था। इस जहाज की जांच के दौरान इस पर 300 टन समुद्री वन्यजीव पाए गए थे।

देश-दुनिया और आपके शहर की हर खबर अब Telegram पर भी। हमसे जुड़ने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें और पाते रहें हर जरूरी अपडेट।

Source link

Samrat Mixture