Samrat Mixture
Breaking News

Coronavirus: चीनी डॉक्टर का दावा, जांच से पहले ही ‘साफ’ कर दिया गया था वुहान का बाजार

Coronavirus in Wuhan: हॉन्ग-कॉन्ग के एक डॉक्टर ने आरोप लगाया है कि वुहान के प्रशासन ने कोरोना वायरस फैलने की जानकारी छिपाई। उन्होंने जांच से पहले ही वुहान के Huanan बाजार को साफ कर दिया था।

Edited By Shatakshi Asthana | पीटीआई | Updated:

प्रतीकात्मक तस्वीरप्रतीकात्मक तस्वीर
हाइलाइट्स

  • कोरोना वायरस को लेकर चीन के डॉक्टर का दावा
  • जांच के लिए वुहान के बाजार पहुंचे तो सब गायब
  • जांच से पहले बाजार को साफ कराया जा चुका था
  • वुहान प्रशासन ने सही से नहीं किया अपना काम

वुहान

कोरोना वायरस के दुनिया में फैलने के साथ ही चीन के खिलाफ यह आरोप लगता रहा कि न सिर्फ उसने अपने देश में इसके फैलने की जानकारी छिपाई, बल्कि बाकी दुनिया को इसके खतरे से अनजान रखा। अब चीन में कोरोना वायरस के फैलने के शुरुआती मामलों की जांच करने वाले एक डॉक्टर ने आरोप लगाया है कि स्थानीय प्रशासन ने वुहान में सबसे पहले वायरस फैलने की घटना को छिपाया था। उन्होंने दावा किया है कि जब डॉक्टर जांच के लिए पहुंचे तब तक सबूत मिटाए जा चुके थे।

सबूतों को हटाया गया

बीबीसी से बात करते हुए प्रफेसर क्वोक-युन्ग युएन ने बताया कि हुआनान वाइल्डलाइफ बाजार में सबूतों को हटा दिया गया था और क्लिनिकल नतीजों पर प्रतिक्रिया भी देरी से दी गई थी। युएन हॉन्ग-कॉन्ग के एक माइक्रोबायॉलजिस्ट, फिजिशन और सर्जन हैं जिन्होंने वुहान में कोरोना वायरस के फैलने की जांच करने में मदद की थी।

‘पहले ही साफ बाजार’

युएन ने बताया है, ‘जब हम हुआनान सुपरमार्केट गए तो वहां कुछ देखने के लिए नहीं क्योंकि वहां सब साफ किया चुका था। इसलिए आप कह सकते हैं कि क्राइम सीन को पहले ही छेड़ा जा चुका था क्योंकि बाजार खाली था। हम किसी होस्ट को नहीं पहचान सकते जिससे इंसानों में वायरस फैला हो। उन्होंने अपनी रिपोर्ट में शक जताया है कि वुहान में स्थानीय स्तर पर छपाने की कोशिश चल रही थी। उन्होंने कहा, ‘जिन अधिकारियों का काम था कि तुरंत जानकारी दी जाए, उन्होंने इसे ऐसे नहीं होने दिए जैसे होना चाहिए था।

एवरा लेबोरेट्रीज बनाएगी ये दवा

  • एवरा लेबोरेट्रीज बनाएगी ये दवा

    हैदराबाद की एवरा लेबोरेट्रीज प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को कोरोना की दवा बनाने की मंजूरी मिल गई है। अब एवरा लेबोरेट्रीज की तरफ से भी फेविपिरावीर एपीआई (एक्टिव फार्मास्युटिकल इनग्रेडिएंट) दवा बनाई जा रही है, जो सिपला को सप्लाई कर दी जाएगी। बता दें कि एपीआई कोई भी दवा बनाने के लिए उसके कच्चे माल जैसा होता है। एवरा लेबोरेट्रीज ने एक बेहद कम लागत की मैन्युफैक्चरिंग प्रोसेस इजात की है, जिसके जरिए एपीआई दवा बनाकर उसे सिपला को भेज दिया जाएगा। सिपला में एवरा लेबोरेट्रीज से भेजी गई दवा से सिप्लेंजा दवा बनाकर लॉन्च की जाएगी, जो फेविपिरावीर दवा का जेनेरिक वर्जन है।

  • क्या होगी इसकी कीमत?

    सिपला की दवा सिप्लेंजा की कीमत 68 रुपये प्रति टैबलेट होगी। अभी बाजार में सिर्फ ग्लेमार्क कंपनी ही फेविपिरावीर से कोरोना की दवा बना रही है, जिसका नाम है फैबिफ्लू (fabiflu)। इसकी कीमत अभी बाजार में 104 रुपये प्रति टैबलेट है। यानी सिपला की दवा सिप्लेंजा इससे करीब 40 फीसदी सस्ती होगी। इसके सस्ते होने की एक बड़ी वजह ये है कि ये दवा ग्लेमार्क की तरह पेटेंट वाली नहीं, बल्कि जेनेरिक है और इसे बनाने की खास कम लागत वाली प्रक्रिया की वजह से इसकी टैबलेट सस्ती है।

  • पद्म भूषण एवी रामा राव की है एवरा लेबोरेट्रीज

    सिपला को सिप्लेंजा लॉन्च करने के लिए दवा सप्लाई करने वाली एवरा लेबोरेट्रीज के फाउंडर हैं पद्म भूषण डॉक्टर एवी रामा राव, जो CSIR-IICT के डायरेक्टर भी रह चुके हैं। उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी 1995 में रिटायर होने तक भारतीय फार्मास्युटिकल इंडस्ट्री को बेहतर बनाने में गुजार दी। ये एवी रामा राव की मेहनत का ही नतीजा था, जिसके चलते 1990 के दशक में सिपला के लिए एंटी-एड्स दवा को बनाया जा सका, जिसने लाखों जिंदगियां बचाईं। उनकी कंपनी एवरा लेबोरेट्रीज पिछले 25 सालों से रिसर्च और मैन्युफैक्चरिंग में लगी हुई है।

चीन से निकलकर दुनिया में फैला

वुहान के हुआनान वाइल्डलाइफ मार्केट से दिसंबर में निकलने के बाद कोरोना वायरस आज पूरी दुनिया में फैल गया है और इससे करीब 1.6 करोड़ लोग इन्फेक्ट हो चुके हैं जबकि करीब 6.5 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। यही नहीं, दुनिया की अर्थव्यवस्था को भी तगड़ा झटका लगा है। अमेरिका समेत कई देशों ने चीन पर घातक वायरस के बारे में जानकारी छिपाने का आरोप लगाया है। हालांकिस अमेरिका ने इन आरोपों का खंडन किया है।

कोरोना वायरस के खिलाफ सफल ऑक्सफर्ड की वैक्सीनकोरोना वायरस के खिलाफ सफल ऑक्सफर्ड की वैक्सीन

Web Title chinese doctor alleges wuhan authorities covered coronavirus spread at initial stages(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

Samrat Mixture