Samrat Mixture
Breaking News

चीन-पाक से खतरा, रूसी टैंक से लेकर इजरायली मिसाइल पर भारत की नजर

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

चीन-पाक से खतरा, रूसी टैंक से लेकर इजरायली मिसाइल पर भारत की नजरचीन और पाकिस्तान से बढ़ते खतरे को देखते हुए भारत जल्द ही अपने मित्र देशों से कई अत्याधुनिक हथियार खरीद सकता है। आर्मी, नेवी और एयरफोर्स की ताकत को बढ़ाने के लिए रूस के हल्के टैंक, इजरायली मिसाइल, हाई स्पीड बोट्स सहित कई हथियारों पर भाारत नजर बनाए हुए है। इनमें से अधिकतर हथियार अमेरिका, रूस और इजरायल में बने हुए हैं। हाल के दिनों में इन देशों से भारत की कई दौर की बातचीत भी हो चुकी है।

2S25 Sprut-SD लाइटवेट टैंक (रूस)

NBT

लद्दाख जैसे ऊंचाई वाले इलाकों में चीन के खिलाफ घातक कार्रवाई के लिए भारत ने कई हथियारों का चुनाव किया है, जिसमें लाइटवेट टैंक प्रमुख है। चीन ने पहले से ही सीमा पर अपने लाइटवेट टाइप-15 टैंक जिसे जेडटीक्यू -15 नाम से जाना जाता है, उसे तैनात कर चुका है। अब भारत रूस की बनी हुई 2S25 Sprut-SD टैंक को खरीदने पर विचार कर रहा है। इस टैंक में 125 एमएम की गन लगी हुई है जिसे किसी हैवी लिफ्ट हेलिकॉप्टर के जरिए भी ऊंचाई वाले इलाके में तैनात किया जा सकता है।

Meteor और Scalp मिसाइल

NBT

भारत आने वाले राफेल विमान हवा से हवा में मार करने वाली बियांड विजुअल रेंज मिसाइल से लैस होंगे। यह मिसाइल दुश्मन के प्लेन को बिना देखे सीधे फायर किया जा सकता है। इसमें एक्टिव रडार सीकर लगा होता है जिससे मिसाइल को किसी भी मौसम में फायर किया जा सकता है। वहीं, स्कैल्प मिसाइल या स्ट्रॉम शैडो किसी भी बंकर को आसानी से तबाह कर सकती है। इसकी रेंज लगभग 560 किमी होती है।

स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल

NBT

इस एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल को इजरायल की रॉफेल एडवांस डिफेंस सिस्टम ने बनाया है। स्पाइक एटीजीएम मिसाइल की सहायता से दुश्मनों के टैंकों को युद्ध के मैदान में आसानी से नष्ट किया जा सकता है। पाकिस्तान से बढ़ते खतरे को देखते हुए इजरायली एटीजीएम लेने का फैसला किया गया था क्योंकि भारत का स्वदेसी एटीजीएम अभी विकास की अवस्था में है।

डर्बी बियांड विजुअल रेंज मिसाइल

NBT

भारतीय वायुसेना के लिए बियांड विजुअल रेंज एयर टू एयर डर्बी मिसाइल को खरीदने को लेकर भी भारत विचार कर रहा है। इसे भी इजरायली हथियार निर्माता कंपनी रॉफेल एडवांस डिफेंस सिस्टम ने बनाया है। इसे भारत के एलसीए तेजस और मिराज-2000 विमानों में तैनात करने की योजना है। इसमें एक्टिव रडार सीकर लगा होता है जो मैक 4 की स्पीड से 50 किमी के रेंज में दुश्मन के एरियल टॉरगेट को नष्ट कर सकता है।

Spice bomb

NBT

वायुसेना ने स्पाइस 2000 बम के एडवांस वर्जन को सेना में शामिल किया है। भारत ने इसे भी इजरायल से ही खरीदा था। स्पाइस एक गाइडेड बम है जो जीपीएस गाइडेंस के साथ काम करता है। यह बम किसी भी प्रकार के बंकर या घर को नष्ट करने की क्षमता रखता है। बालाकोट हमले में इसी बम का इस्तेमाल किया गया था।

Source link

Samrat Mixture