Samrat Mixture
Breaking News

‘राममंदिर शिलान्यास से सरकार के किसी भी काम में दखल नहीं होगा’, NDTV से बोलीं उमा भारती

'राममंदिर शिलान्यास से सरकार के किसी भी काम में दखल नहीं होगा', NDTV से बोलीं उमा भारती

Uma Bharti ने ndtv से की खासबातचीत

नई दिल्ली:

राम मंदिर से लंबे वक्ते से जुड़ी रहीं और बीजेपी की कद्दावर नेता उमा भारती ने राम मंदिर भूमि पूजन से पहले NDTV से बात की. शिलान्यास के दिन के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि अगर मेरे सामने 5 हजार जिंदगियों के बजाय सिर्फ इस मौके को जीने का मौका दिया जाए तो मैं सिर्फ इसी मौको को चुनना पसंद करुंगी. 5 अगस्त को राम जन्मभूमि पूजन के आमंत्रण को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने साफ किया कि इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है कि मुझे कार्यक्रम में बुलाया जाएगा या नहीं, मेरे लिए महत्वपूर्ण है मोदी जी का वहां होना और राम मंदिर का शिलान्यास करना. इस मौके पर उन्होंने राम मंदिर पर सवाल उठाने को लेकर शरद पवार व कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा.

यह भी पढ़ें

बीजेपी की कद्दावर नेता ने कहा कि शरद पवार को मैं लंबे वक्त से जानती हूं और उनके इस बयान से दुखी हूं. उन्होंने कहा कि शरद पवार का बैकग्राउंड कांग्रेस है और देश जानता है कि कांग्रेस ने किस तरह से देश को धर्म के आधार पर बांट दिया. उमा भारती ने कहा कि देश के किसी भी काम पर राम मंदिर शिलान्यास का प्रभाव नहीं पड़ेगा. पीएम मोदी दिन भर काम करते हैं. वह चाहें हवाई जहाज से लेकर कार तक में काम करते हैं और देश के किसी भी काम पर इसका प्रभाव नहीं पड़ेगा. उमा भारती ने कहा कि मैं कभी नही कहूंगी कि राजीव गांधी जी का राम मंदिर में कोई योगदान नहीं है. लेकिन इसी कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट ने एक हलफनामा दिया था. 

जन्मभूमि की तारीख को लेकर पैदा हुए विवाद पर उमा भारती ने कहा कि अयोध्या में वैष्णव संप्रदाय का गढ़ है. इस बारे में स्वारुपानंद जी और नृत्यगोपाल दास आपस में बात कर सकते हैं. मैं मूहूर्त के मामले में विशेषज्ञ नहीं हूं. मैंने तो सुना है तो राम का नाम लो तो सभी दिशाओं में मंगल हो जाता है. उन्होंने कहा कि मैं स्वरूपानंद पर टिप्पणी करने के लिए मैं बहुत छोटी हूं. 

मध्य प्रदेश कैबिनेट को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया बीजेपी में लाए नहीं गए हैं वह खुद आए हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस में राहुल गांधी युवा और दबंग नेताओं को आगे नहीं बढ़ने देते हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी की ईर्ष्या की वजह से कांग्रेस गर्त में जा रही है. कांग्रेस को आत्मनिरिक्षण करने की जरूरत है. 

राजस्थान की राजनीति पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि सचिन पायलट क्या चाहते हैं और क्या नहीं हमें तो यह नहीं पता लेकिन अगर वह आना चाहते हैं तो उनका स्वागत है. उन्होंने कहा हमारी पार्टी में आने वाले लोगों को हमारी विचारधारा के बारे में पता है. अगर क्षमतावान लोग बीजेपी में आने चाहते हैं तो उन्हें उनकी क्षमता के अनुरुप पद दिया जाएगा. 

Source link

Samrat Mixture