Samrat Mixture
Breaking News

भाई-भतीजावाद पर बोले इमाम उल हक, अकेले खाना खाया, बाथरूम में रोया – pakistan cricketer imam ul haq says openly on nepotism would cry in the bathroom

इमाम उल हक (Imam Ul Haq) पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज इंजमाम उल हक के भतीजे हैं। 2017 में वनडे डेब्यू करने वाले इमाम ने अब तक 11 टेस्ट और 37 वनडे खेले हैं।

Edited By Tarun Vats | आईएएनएस | Updated:

इमाम उल हक (file)इमाम उल हक (file)
हाइलाइट्स

  • पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज इंजमाम उल हक के भतीजे हैं इमाम उल हक
  • इमाम उल हक ने अक्टूबर 2017 में श्रीलंका के खिलाफ वनडे में पदार्पण किया था
  • इमाम बोले, अपने परिवार के लोगों से बात तक करना बंद कर दिया था, उन पर दबाव नहीं डालना चाहता था
  • डेब्यू वनडे मैच में लगाया था शतक, 2019 विश्व कप में भी पाकिस्तान की टीम का हिस्सा थे इमाम

लाहौर

पाकिस्तान के बल्लेबाज इमाम उल हक को राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने के बाद भाई-भतीजावाद (नेपोटिज्म) के आरोपों से जूझना पड़ा था। इससे उनके ऊपर काफी मानसिक दबाव आ गया और वह बाथरूम तक में रोए। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज इंजमाम उल हक के भतीजे इमाम ने अक्टूबर 2017 में श्रीलंका के खिलाफ वनडे में पदार्पण किया था। यहां तक कि उस समय इंजमाम के मुख्य चयनकर्ता होने के बावजूद उन्हें टीम में जगह पाने में मदद नहीं मिली थी।

इमाम ने क्रिकइन्फो के शो क्रिकेटबाजी पर पूर्व भारतीय विकेटकीपर दीपदास गुप्ता के साथ बातचीत में कहा, ‘जब यह सभी चीजें शुरू हुई, तो मैंने सारे समय अकेले ही खाना खाया। यह मेरा पहला दौरा था और आप समझ सकते हैं कि पहला दौरा कैसा होता है। जब कभी मैं अपना फोन खोलता, तो लोगों ने मुझे सोशल मीडिया पर टैग किया होता था या फिर मुझे काफी चीजें भेजा करते थे। मैं बहुत ही निराश था और कुछ भी समझ नहीं आता था।’

जानें, सचिन ने क्यों की इस इंग्लिश क्रिकेटर की तारीफ

उन्होंने कहा, ‘इसके बाद मैंने अपने परिवार के लोगों से बात करना बंद कर दिया था क्योंकि मैं उन पर दबाव नहीं डालना चाहता था। मैं नहीं चाहता था उनको मेरी परेशानी के बारे में पता चले। मैंने अपना दोनों फोन बंद कर दिया था और मैनेजर को रखने दिया। यह भी कहा था कि मैं इसे नहीं ले सकता इसको मेरे पास से ले जाइए।’

पाकिस्तानी बल्लेबाज ने कहा, ‘मुझे याद है कि मैं बाथरूम में नहाते समय भी घंटों भर रोता था कि मैंने अब तक एक भी मैच नहीं खेला। एक युवा के लिए अपने आप पर शक करना और निराशा में जाना काफी आसान होता है।’

इमाम अकेले नहीं, रंगीनमिजाजी में ये भी हुए हैं बदनाम

24 वर्षीय इस बल्लेबाज ने कहा, ‘एक बात जो लगातार दिमाग में चलती रहती है कि अब तक तो मैंने राष्ट्रीय टीम के लिए खेला भी नहीं। क्या हुआ अगर मैंने खेला और अच्छा नहीं कर पाया, फिर तो मेरा करियर खत्म हो जाएगा। मैं अपने कमरे से बाहर एक कदम भी नहीं निकला, क्योंकि मुझे डर लगता था कि लोग बाहर जाने पर परेशान करेंगे, खासकर तब जब दुबई में पाकिस्तानी समुदाय के काफी लोग हैं।’

इमाम को सीरीज के तीसरे मैच में खेलने का मौका मिला था। इमाम, पाकिस्तान के ऐसे दूसरे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने अपने पदार्पण वनडे मैच में शतक जमाया था। वह 2019 विश्व कप में भी पाकिस्तान की टीम का हिस्सा थे। उन्होंने अब तक 11 टेस्ट और 37 वनडे खेले हैं। उन्होंने वनडे में 7 शतक और 6 अर्धशतक भी लगाए हैं।

रेकमेंडेड खबरें

Source link

Samrat Mixture