Samrat Mixture
Breaking News

ट्रांसपैरेंट PPE किट पहन कर किया कोरोना मरीजों का इलाज, अब बनीं न्यूज ऐंकर

Edited By Priyesh Mishra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

नादिया जुकोवानादिया जुकोवा
हाइलाइट्स

  • ट्रांसपैरेंट पीपीई किट पहनकर इलाज करने वाली नर्स नादिया जुकोवा बनी न्यूज एंकर, बताएंगी मौसम का हाल
  • कपड़ों को लेकर बवाल बढ़ने के बाद शुरू हो गई थी विभागीय जांच, नौकरी पर आ गया था संकट
  • एक रूसी स्पोर्ट्स ब्रांड की ओर से मॉडलिंग का ऑफर, नादिया ने किया इनकार

मास्को

रूस के एक कोरोना अस्पताल में ट्रांसपैरेंट पीपीई किट पहनकर इलाज करने वाली नर्स नादिया जुकोवा अब न्यूज ऐंकर की भूमिका में नजर आएंगी। नादिया को मास्को के 100 मील की दूरी पर स्थित तुला के एक निजी न्यूज चैनल ने बतौर एंकर पॉर्ट टाइम नौकरी दी है। यहां वह शुरूआती दौर में मौसम से संबंधित जानकारी देती नजर आएंगी।

मॉडलिंग का आया ऑफर

ट्रांसपैरेंट पीपीई किट पहनने के बाद चर्चा में आई नादिया को एक रूसी स्पोर्ट्स ब्रांड की ओर से मॉडलिंग का ऑफर भी आया है। हालांकि, उन्होंने समय की कमी को बताकर इस ऑफर को ठुकरा दिया है। नादिया बतौर नर्स भी काम करती रहेंगी, क्योंकि वह डॉक्टर बनने की ट्रेनिंग भी ले रही हैं।

नादिया ने न्यूज एंकर बनने पर जताई खुशी

न्यूज ऐंकर के रूप में अपनी भूमिका को लेकर नादिया ने कहा कि वह इसे लेकर बहुत उत्साहित हैं। उन्होंने न्यूज चैनल का आभार भी जताया और कहा कि वह इस मौके का पूरा फायदा उठाएंगी। बता दें कि मई में रूस के कोरोना वार्ड में ट्रांसपैरेंट पीपीई किट पहनने के बाद उनकी नौकरी पर भी खतरे के बादल मडराने लगे थे। इसे लेकर सोशल मीडिया में भी जमकर बहस हुई थी।

NBT

कपड़ों की जगह PPE पहन पहुंची नर्स, अब नौकरी पर संकट

नादिया ने पीपीई किट मामले में दी थी यह सफाई

नादिया ने पीपीई किट मामले में अपनी सफाई में अस्पताल प्रशासन से कहा था कि उन्हें इस बात का अहसास नहीं था कि उसने जो पीपीई किट पहना है वह ज्यादा पारदर्शी है। उन्हें इसके बारे में तब पता चला जब वह दूसरे दिन अस्पताल में ड्यूटी के लिए पहुंची थी।

रूस: पुरूष कोरोना वार्ड में महिला नर्स ने पहना ट्रांसपैरेंट पीपीई किट, तस्वीर वायरल

नादिया के समर्थन में आए थे डॉक्टर्स और नेता

जब नादिया के ड्रेस को लेकर रूसी क्षेत्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की तब उनके समर्थन में अस्पताल के डॉक्टर्स, दूसरे सहकर्मी और राजनेता सामने आए थे। उन्होंने आरोप लगाते हुए मांग की थी कि कोरोना वायरस वार्ड में काम करने वालों को सही पीपीई किट मुहैया कराएं। उन्होंने कहा था कि जो पीपीई किट उपलब्ध करवाया गया वह इतना पतला था जो स्वास्थ्यकर्मियों को नुकसान पहुंचा सकता है।

Source link

Samrat Mixture