Samrat Mixture
Breaking News

जासूसी का आरोप, अमेरिकी अधिकारियों ने बंद कराया चीन का ह्यूस्टन कॉन्सुलेट

Edited By Shatakshi Asthana | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

ह्यूस्‍टन के जवाब में चीन का 'तिब्‍बत' अटैक, चेंगदू में बंद किया अमेरिकी वाणिज्‍य दूतावासह्यूस्‍टन के जवाब में चीन का ‘तिब्‍बत’ अटैक, चेंगदू में बंद किया अमेरिकी वाणिज्‍य दूतावास

ह्यूस्टन

अमेरिका के फेडरल एजेंट और स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों ने ह्यूस्टन स्थित चीन के कॉन्सुलेट को शुक्रवार दोपहर को बंद करा दिया। अमेरिका ने यह आरोप लगाते हुए यह दूतावास बंद किया है कि इसका इस्तेमाल चीन जासूसी के लिए कर रहा है। इससे पहल चीन के वाणिज्‍य दूतावास ने अमेरिका के विदेश मंत्रालय के आदेश को मानने से इनकार कर दिया था और महावाणिज्‍य दूत काई वेई ने कहा था कि उनका कार्यालय ‘अगले आदेश तक खुला रहेगा।’

दोपहर 4 बजे के तक खाली कॉन्सुलेट

इसके बाद शुक्रवार दोपहर को काली SUV, ट्रक और दो सफेद वैन भारी मीडिया और देखनेवालों की भीड़ के बीच कंपाउंड में पहुंचीं। इसके बाद कॉन्सुलेट को बंद करा दिया गया और दोपहर करीब 4 बजे के बाद कॉन्सुलेट के अधिकारी वहां से चले गए। अमेरिकी अधिकारियों ने शुक्रवार को रिपोर्टर्स को बताया कि कॉन्सुलेट टेक्सस के एक रिसर्च इंस्टिट्यूशन में फर्जीवाड़े में शामिल था और चीनी इसके अधिकारी सीधे-सीधे रिसर्चर्स को यह निर्देश पहुंचा रहे थे कि उन्हें क्या जानकारी इकट्ठा करनी है।

माइक पोम्पियो बोले- चीन बन गया है ‘भस्‍मासुर’, जिन हाथों ने खिलाया, उन्हें ही काट खाया

25 शहरों में चल रहा नेटवर्क

जस्टिस डिपार्टमेंट ने शुक्रवार को कहा है कि ह्यूस्टन कॉन्सुलेट की गतिविधियां 25 से ज्यादा शहरों में चलने वाले लोगों के एक बड़े नेटवर्क की झलक है जिसे यहां कि कॉन्सुलेट्स से सपॉर्ट मिल रहा है। बयान में कहा गया है कि कॉन्सुलेट लोगों को कैसे हमारी जांच से बचना है और इसमें रुकावट डालनी है, इसे लेकर निर्देश दे रही हैं और इस क्षमता से समझा जा सकता है कि पूरे देश में ऐसा नेटवर्क चल रहा है।

अमेरिका और चीन में गहराया तनाव, ह्यूस्‍टन वाण‍िज्‍य दूतावास नहीं छोड़ रहा ड्रैगन

72 घंटे में बंद करना था काम

वहीं, चीन के विदेश मंत्रालय के मुताबिक अमेरिका ने चीन को 72 घंटे के अंदर ह्यूस्टन फसिलटी में सभी ऑपरेशन और इवेंट बंद करने के लिए कहा है। मंत्रालय ने दोनों देशों के बीच जारी तनाव को बढ़ाने का कदम बताया जिसके बारे में सोचा नहीं गया था। दोनों देशों के बीच ट्रेड वॉर के बाद कोरोना वायरस की महामारी, दक्षिण चीन सागर और हॉन्ग-कॉन्ग और उइगर मुस्लिमों पर जारी अत्याचार को लेकर रार पैदा है।

चीन ने किया फैसले का विरोध

उधर चीनी वाणिज्‍य दूत ने कहा कि चीन ने अमेरिका से दूतावास को बंद करने के अपने आदेश को वापस लेने के लिए कहा है। चीन ने दलील दी है कि यह वियना समेत अन्‍य अंतरराष्‍ट्रीय समझौतों का उल्‍लंघन है। चीन ने बुधवार को इस आदेश की निंदा करते हुए इसे ‘अपमानजनक’ बताया था और कहा कि अगर इस फैसले को वापस नहीं लिया गया तो इसका कड़ा जवाब दिया जाएगा।

अमेरिका ने चीन से ह्यूस्टन कॉन्स्युलेट बंद करने को कहाअमेरिका ने चीन से ह्यूस्टन कॉन्स्युलेट बंद करने को कहा

दूतावास छोड़ते अधिकारी

दूतावास छोड़ते अधिकारी

Source link

Samrat Mixture