Samrat Mixture
Breaking News

संकट के बीच अच्छी खबर, मई में 4.63 लाख लोगों को मिली नौकरी

Edited By Shashank Jha | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

NBT
हाइलाइट्स

  • ESIC रिपोर्ट, मई में 4.63 लाख लोगों को नौकरी मिली
  • फरवरी में 11.83 लाख और मार्च में 8.21 लाख नौकरी
  • 25 मार्च को लॉकडाउन के बाद मई में पूरा भारत बंद रहा था
  • EPFO के पास मई में 3.18 लाख रजिस्ट्रेशन हुए हैं

नई दिल्ली

कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) की सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से इस साल मई में करीब 4.63 लाख नये सदस्य जुड़े। अप्रैल में यह संख्या 2.55 लाख थी। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (National Statistics Office) की शुक्रवार को जारी रिपोर्ट के अनुसार ESIC की योजना में मार्च में 8.21 लाख नये सदस्य से जुड़े थे। फरवरी में यह संख्या 11.83 लाख थी। बता दें नए रजिस्ट्रेशन का साफ मतलब है कि इतने लोगों को नया रोजगार मिला है।

मई में पूरे देश में था लॉकडाउन

उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस महामारी की रोकथाम के लिये देश में 25 मार्च से ‘लॉकडाउन’ लगाया गया था। एक जून से धीरे-धीरे अर्थव्यवस्था को खोला जा रहा है। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय NSO की रिपोर्ट के अनुसार ESIC के पास 2019-20 में पंजीकृत नये अंशधारकों की संख्या 1.51 करोड़ रही जबकि इससे पूर्व वित्त वर्ष में यह 1.49 करोड़ था। सितंबर 2017 से मार्च 2018 के दौरान 83.35 लाख नये अंशधारक ESIC योजना से जुड़े।

IMF ने बताया निवेशकों को लाने का तरीका

अप्रैल 2018 से रिपोर्ट जारी होती है

रिपोर्ट के अनुसार सितंबर 2017 से मई 2020 के दौरान ESIC के पास पंजीकृत सकल रूप से जुड़े नये अंशधारकों की संख्या 3.91 करोड़ रही। एनएसओ रिपोर्ट ESIC, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) और पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (PFRDA) द्वारा संचालित विभिन्न सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से जुड़े नये अंशधारकों के आंकड़े पर आधारित है। इन संगठनों के आंकड़े अप्रैल 2018 से जारी किया जा रहा है। इसमें सितंबर 2017 की अवधि को लिया गया है।

फिर महंगा हुआ सोना, 52 हजार पहुंची कीमत



EPFO के साथ मई में 3.18 लाख रजिस्ट्रेशन


रिपोर्ट के अनुसार EPFO के पास मई में 3.18 लाख रजिस्ट्रेशन हुए। जबकि अप्रैल में यह संख्या एक लाख थी। मई में जारी रपट के अनुसार नये सदस्यों का रजिस्ट्रेशन मार्च, 2020 में घटकर 5.72 लाख रहा जो फरवरी में 10.21 लाख था। रिपोर्ट के अनुसार 2019-20 में ईपीएफओ के नये अंशधारकों की संख्या बढ़कर 78.58 लाख रही जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 61.12 लाख थी। आंकड़े के अनुसार सितंबर, 2017 से मई 2020 के दौरान सकल रूप से करीब 3.38 नये अंशधारक ईपीएफओ की योजना से जुड़े। एनएसओ ने कहा कि रिपोर्ट संगठित क्षेत्र में रोजगार के विभिन्न दृष्टिकोण को बताता है और समग्र रूप से रोजगार को आकलन नहीं करता।

Source link

Samrat Mixture