Samrat Mixture
Breaking News

ब्रेक से मिलेगा धोनी को फायदा, वापसी के लिए खुले हैं दरवाजे: डीन जोंस – former australian cricketer dean jones says the break might be fantastic for ms dhoni he has left the doors open for comeback

Edited By Tarun Vats | टाइम्सऑफइंडिया.कॉम | Updated:

महेंद्र सिंह धोनी (file)महेंद्र सिंह धोनी (file)
हाइलाइट्स

  • धोनी ने जुलाई-2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड कप सेमीफाइनल के बाद से कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला
  • जोंस ने कहा, टीम इंडिया के पूर्व कप्तान धोनी के लिए ब्रेक फायदेमंद साबित हो सकता है
  • 2007 वर्ल्ड टी20, 2011 वनडे वर्ल्ड कप और 2013 चैंपियंस ट्रोफी जीतने वाले एकमात्र कप्तान हैं धोनी
  • जोंस ने साथ ही कहा, भारतीय टीम की सबसे बड़ी समस्या अब भी एक फिनिशर है

आकाश दासगुप्ता, नई दिल्ली

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लेकर एक सवाल करोड़ों भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के जेहन में चल रहा है, क्या वह वापसी करेंगे या नहीं? भारत और दुनियाभर में उनके फैंस उम्मीद कर रहे हैं कि तीनों आईसीसी ट्रोफी (2007 वर्ल्ड टी20, 2011 वनडे वर्ल्ड कप और 2013 चैंपियंस ट्रोफी) जीतने वाले धोनी को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करते हुए देखने को मिलेगा।

39 वर्षीय धोनी ने पिछले साल जुलाई में न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली वर्ल्ड कप सेमीफाइनल हार के बाद से कोई अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेले हैं। पहले तो ज्यादातर लोगों को लगा कि वह सिर्फ एक ब्रेक लेना चाहते हैं लेकिन ऐसी खबरें भी थीं उन्हें कुछ चोट भी हैं। उन्होंने कुछ समय के लिए रांची में नेट्स में प्रैक्टिस भी की, लेकिन उन्होंने एक के बाद एक सीरीज में खुद को अनुपलब्ध बताना जारी रखा जिसके बाद सवाल खड़े होने लगे कि क्या वह रिटायरमेंट की घोषणा करने वाले हैं?

पढ़ें, संन्यास या कुछ और, आखिर धोनी के मन में क्या चल रहा है?

अब आईसीसी ने टी20 वर्ल्ड कप को आधिकारिक तौर पर स्थगित कर दिया है और पूरी उम्मीद है कि उस विंडो को आईपीएल के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। इस बारे में ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर डीन जोंस को लगता है कि यह ब्रेक धोनी के लिए फायदेमंद साबित होगा।

फार्म हाउस में खेती कर रहे धोनी

  • फार्म हाउस में खेती कर रहे धोनी

    आईपीएल टीम चेन्नै सुपरकिंग्स के कप्तान धोनी लॉकडाउन से ही रांची में अपने फार्म हाउस में फैमिली के साथ हैं। उन्होंने कुछ समय पहले ही फार्म हाउस में खेती के लिए एक ट्रैक्टर खरीदा था। अब इसी ट्रैक्टर का इस्तेमाल धोनी ऑर्गेनिक खेती के लिए कर रहे हैं।

  • ट्रैक्टर चलाते नजर आए धोनी
  • करीब 8 लाख का है धोनी का ट्रैक्टर

    वीडियो में धोनी अकेले ट्रैक्टर चलाते नजर दिख रहे हैं। इसमें कैप्शन के तौर पर लिखा गया है, ‘धोनी रांची में अपने फार्म हाउस में ऑर्गेनिक खेती करते हुए।’ धोनी ने महिंद्रा का स्वराज 963 एफई ट्रैक्टर खरीदा था जिसकी कीमत 8 लाख के करीब है।

  • धोनी ने हाल में खरीदा था ट्रैक्टर
  • आनंद महिंद्रा ने भी की थी तारीफ
  • रांची में जीवा संग मस्ती करते भी दिखे धोनी

उन्होंने हमारे सहयोगी टाइम्स ऑफ इंडिया डॉट कॉम से कहा, ‘ऐसा लग रहा है कि फिलहाल भारतीय चयनकर्ता ऋषभ पंत और केएल राहुल को मौका देने जा रहे हैं। अगर धोनी आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करते हैं तो उन दोनों के लिए मुश्किल होगी लेकिन अगर वह अच्छा नहीं करते हैं तो शायद उनके लिए दरवाजा बंद हो सकता है।’

पढ़ें, सचिन-शास्त्री के इस मंत्र से कोहली बने ‘विराट’

जोंस ने आगे कहा, ‘यह ब्रेक धोनी के लिए शानदार हो सकता है। वास्तव में ब्रेक उनके लिए काफी अच्छा रहा है, अगर वह वापसी करना चाहते हैं। मुझे विश्वास है कि जैसे आपकी उम्र बढ़ती जाती है तो ब्रेक के बाद वापसी करना ज्यादा मुश्किल होता है।’

जब धोनी ने चेन्नै सुपर किंग्स के कैंप में वापसी की तो फैंस की उम्मीद जगी कि यदि वह आईपीएल में अच्छा करते हैं तो टीम इंडिया में भी उनकी वापसी हो सकती है। हेड कोच रवि शास्त्री ने भी कहा था कि धोनी यदि आईपीएल में बेहतर करते हैं तो उनकी टीम इंडिया में वापसी हो सकती है। वहीं, पूर्व चीफ सिलेक्टर एमएसके प्रसाद ने कहा कि धोनी को वापसी के लिए खुद को साबित करना होगा।

देखें, कश्मीर में तैनात लेफ्टिनेंट कर्नल धोनी, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही तस्वीरें

करियर में 11 टेस्ट और 7 वनडे शतकों के साथ 9000 से ज्यादा रन बनाने वाले जोंस ने कहा, ‘वह (धोनी) एक सुपरस्टार हैं। वह ‘महान’ हैं। मैंने हमेशा महान लोगों के साथ महसूस किया है कि उन्हें वह करने देना है, जो वे करना चाहते हैं।’

कुछ क्रिकेटरों ने साधा धोनी पर निशाना

  • कुछ क्रिकेटरों ने साधा धोनी पर निशाना

    पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टीम इंडिया को कई अहम जीत दिलाईं, वनडे और टी20 के वर्ल्ड कप जीते लेकिन अब कुछ पूर्व क्रिकेटरों ने उन पर निशाना साधा कि उनका सपॉर्ट नहीं किया गया।

  • इरफान से कोच ने कहा था- कुछ चीजें मेरे हाथ में नहीं

    पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान ने एक चैनल से बातचीत में कहा कि उन्हें कोच और कप्तान से उतना सपॉर्ट नहीं मिला था। यहां तक कि उन्होंने टीम में मौका ना मिलने पर जब तत्कालीन कोच गैरी कर्स्टन से सवाल किया, तो उन्होंने कहा कि सब बढ़िया कर रहे हो, लेकिन कुछ चीजें मेरे हाथ में नही हैं।

  • 'वर्ल्ड कप में मौका ना देने का 3 साल पहले कर लिया था धोनी ने फैसला'

    पूर्व ओपनर गौतम गंभीर ने हाल में दावा किया था कि धोनी ने साल 2012 में ही यह फैसला कर लिया था कि वह, वीरेंदर सहवाग और दिग्गज सचिन तेंडुलकर 2015 में होने वाले वर्ल्ड कप में साथ नहीं खेलेंगे। गंभीर ने कहा कि तब मीडिया में खबरें आईं कि हमारी फील्डिंग अच्छी नहीं थी, इसलिए यह फैसला किया गया। तब 2015 वर्ल्ड कप में सहवाग और गंभीर को जगह नहीं मिली थी।

  • 'धोनी के पसंदीदा खिलाड़ी रहे रैना'

    भारत के दिग्गज क्रिकेटरों में शुमार युवराज सिंह ने हाल में कहा था कि 2011 विश्व कप के दौरान धोनी को चयन को लेकर सिरदर्द झेलना पड़ा जब उन्हें अंतिम एकादश में उनके, यूसुफ पठान और सुरेश रैना में से किसी दो को चुनना था। युवी ने कहा था कि रैना ही धोनी के पसंदीदा खिलाड़ी थे और उन्हें हमेशा सपॉर्ट किया गया। उन्होंने कहा कि रैना 2011 वर्ल्ड कप से पहले लय में नहीं थे, फिर भी उन्हें टीम में मौका दिया गया।

  • धोनी ने ड्रॉप करने से पहले बात तक नहीं की: सहवाग

    पूर्व धुरंधर ओपनर वीरेंदर सहवाग ने दावा किया था कि महेंद्र सिंह धोनी ने 2011-12 सीबी सीरीज में उन्हें टीम से बाहर करने से पहले एक बार भी उनसे बातचीत नहीं की थी। उन्होंने कहा था कि मीडिया में उन्हें स्लो फील्डर बताया गया, लेकिन धोनी ने कभी सामने उनसे कुछ नहीं कहा।

  • धोनी के फैंस की कुछ और है राय

    इस पूर्व कप्तान फैंस की कमी नहीं है और उनका कहना है कि यदि धोनी ने ऐसा किया भी तो टीम के भले के लिए। उनका मानना है कि धोनी की कप्तानी में भारत ने 2 वर्ल्ड कप जीते, ऐसे में जब रिजल्ट अच्छा दिया तो उन पर सवाल कैसे। वहीं, कुछ मानते हैं कि धोनी ने ऐसे कुछ क्रिकेटरों का करियर खराब किया।

बीसीसीआई ने इसी साल जनवरी में सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से भी उन्हें बाहर कर दिया था। जब धोनी ने फैसला किया कि वह अब टेस्ट खेलना जारी नहीं रखना चाहते, तो उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में रिटायरमेंट की घोषणा कर दी, जब वह 2014 में टेस्ट सीरीज के दौरान कप्तानी कर रहे थे।

‘फिनिशर’ के बारे में जोंस ने कहा, ‘भारत की सबसे बड़ी समस्या अब भी एक फिनिशर है। आपका फिनिशर कौन है? हार्दिक पंड्या – हां। बस आपको संतुलन जरूरी है।’ धोनी को मिस्टर फिनिशर भी कहा जाता है और उन्होंने कई बार मैच में जीत दिलाने में अहम भूमिका अदा की है।

Source link

Samrat Mixture